Monday, 28 February 2011

अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी


आई0ए0ई0ए0 (इंटरनेशनल एटॉमिक एनर्जी एजेंसी) एक स्वायत्त विश्व संस्था है, जो इस बात की निगरानी करती है कि परमाणु ऊर्जा का शांतिपूर्ण उपयोग हो। वह परमाणु ऊर्जा के सैन्य उपयोग को हरसंभव रोकने की कोशिश करती है। अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी का गठन 29 जुलाई, 1957 को हुआ था।  अलबरदेई  को  वर्ष  2005  का शांति का नोबेल पुरस्कार मिला है। इसके पहले सेक्रेटरी जनरल डब्लयू.स्टíलंग कोल (1957-1961) थे, इसका मुख्यालय वियना आस्ट्रिया  में है। संस्था ने 1976 में रूस   के चेरनोबल में हुई नाभिकीय दुर्घटना के बाद अपने नाभिकीय सुरक्षा कार्यक्रम को विस्तार दिया है। वर्तमान में इसके महासचिव युकिया अमानो हैं। अलबारदेई को संयुक्त रूप से २००५ का शांति नोबेल पुरस्कार दिया गया। इसके सबसे पहले महासचिव डब्ल्यू स्टर्लिंग कोल (१९५७-१९६१) थे। आईएईए बोर्ड के ३५ सदस्य देशों में से २६ नाभिकीय आपूर्तिकर्ता समूह सदस्य देश हैं

संरचना एंव कार्य

आईएईए सीधे तौर पर तो संयुक्त राष्ट्र के नियंत्रण में नहीं है, लेकिन इसे महासभा और सुरक्षा परिषद को अपनी रिपोर्ट देनी होती है। आईएईए के मुख्यत: तीन अंग हैं-बोर्ड ऑफ गर्वनर्स, जनरल कांफ्रेंस,सेकेट्रेरिएट। बोर्ड ऑफ गर्वनर्स में सदस्यों की संख्या 35 होती है, जिनमें से 13 सदस्य आउटगोइंग बोर्ड से लिए जाते हैं, जबकि शेष 22 सदस्यों का चुनाव जनरल कांफ्रेंस करती है। बोर्ड ऑफ गर्वनर्स का मुख्य कार्य आईएईए की नीतियों का निर्धारण करना है।
आईएईए बजट का प्रस्ताव जनरल कांफ्रेस के सामने रखता है। इसके अलावा इसे डाइरेक्टर जनरल का भी चुनाव करना होता है। जनरल कांफ्रेंस की प्रत्येक वर्ष सितंबर माह में बैठक होती है, जिसमें बोर्ड ऑफ गर्वनर्स द्वारा प्रस्तावित बजट और कार्यो की सहमति प्रदान की जाती है। सेक्रेटेरिएट का मुखिया डाइरेक्टर जनरल होता है। यह जनरल कांफ्रेंस और बोर्ड ऑफ गर्वनर्स द्वारा लाए गए प्रस्तावों को अमलीजामा पहनाने के लिए उत्तरदायी होता है।

आईएईए सीधे सीधे  UNO  के अधीन नहीं है,  लेकिन यह संयुक्त  रास्ट्र महासभा  और सुरक्षा परिषद को अपनी रिपोर्ट  देती है।  इस संस्था के मुख्यत: तीन अंग हैं-

  • राज्यपालों का बोर्ड (बोर्ड ऑफ गर्वनर्स),
  • सामान्य सम्मेलन (जनरल कांफ्रेंस) और
  • सचिवालय (सेकेट्रेरिएट)
बोर्ड ऑफ गर्वनर्स में सदस्यों की संख्या ३५ होती है, जिनमें से १३ सदस्य पिछले बोर्ड से लिए जाते हैं, जबकि शेष २२ सदस्यों का चुनाव सामान्य सम्मेलन द्वारा होता है। बोर्ड ऑफ गर्वनर्स का मुख्य कार्य आईएईए की नीतियों का निर्धारण करना है।
संस्था अपने बजट का प्रस्ताव जनरल कांफ्रेस के सामने रखती है। इसके अलावा इसे महासचिव का भी चुनाव करना होता है। जनरल कांफ्रेंस की प्रत्येक वर्ष सितंबर माह में बैठक होती है, जिसमें बोर्ड ऑफ गर्वनर्स द्वारा प्रस्तावित बजट और कार्यो की सहमति प्रदान की जाती है। सचिवालय के अध्यक्ष महासचिव होते हैं। यह जनरल कांफ्रेंस और बोर्ड ऑफ गर्वनर्स द्वारा लाए गए प्रस्तावों को कार्यरूप में लाने के लिए उत्तरदायी होता है। इस संस्था के तीन मुख्य काम हैं-
  • सदस्य राष्ट्रसुरक्षा,
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी एवं
  • सुरक्षा व संपुष्टि
होली सी एवं कई  UNO  सदस्य इस संस्था के सदस्य हैं।
आई.ए.ई.ए से सदस्यता वापस लेने वाले राष्ट्र इस प्रकार हैं:

महासचिव सूची

राष्ट्रीयता एवं नाम
कार्यकाल
१९५७ - १९६१
१९६१ - १९८१
१९८१ - १९९७
१९९७ - २००९
निर्वाचित, कार्यारंभ: दिसंबर, २००९
स्रोत -विकिपीडिया और अन्य 


No comments:

Post a Comment

Recent Posts